रमजान में रोज़ा ना रखने वाले मुसलमानों को पकड़ने के लिये मलेशिया पुलिस अपना रही है ये तरीका

0
267

रमजान उल मुबारक के मुक़द्दस महीने में पूरी दुनिया के मुसलमान रोज़ा रखते हैं और ज्यादा से ज्यादा इबादत करते हैं,बगैर किसी मजबूरी के रोज़ा छोड़ना बहुत गुनाह का काम है,रमजान में खुलेआम खाने पीने से इस्लाम ने मना किया है ताकि रमजान का सम्मान बना रहे।

मलेशिया में रोज़े के दौरान सार्वजनिक स्थानों पर खाने पीने वालों के लिए बहुत मुश्किल है,ऐसे लोगों की धरपकड़ और कार्यवाही के लिये पुलिस टीम का गठन किया है, सादा लिबास पहने पुलिस टीम को जगह-जगह तैनात किया गया है ताकि रोजा ना रखने वाले मुस्लिमों को पकड़कर उनके खिलाफ एक्शन लिया जा सके।

द फॉक्स न्यूज ने खबर दी है कि ऐसे लोगों के खिलाफ मुस्लिम बहुल देश मलेशिया में सख्त सजा दी जा सकती है। न्यू स्ट्रेट्स टाइम्स की खबर के मुताबिक दो दर्जन से अधिक लॉ एनफोर्समेंट ऑफिसर (LEO) को सादे लिबास में भेष बदलकर कुक और वेटर्स के रूप में तैनात किया गया है ताकि बेरोजेदारों को पकड़ा जा सके। इस्लाम के सबसे पवित्र महीने के दौरान मुस्लिमों को रमजान रखना अर्थात सुबह से शाम तक उपवास पर रहना जरुरी है।

एक अधिकारी ने बताया कि मलेशियाई राज्य जोहर के सेगमत जिले में करीब 200 खाने स्टॉल पर नजर रखी जाएगी। मामले में सेगमत नगर परिषद के अध्यक्ष मोहम्मद मंसी वकीमन ने न्यू स्ट्रेट्स टाइम्स को बताया, ’15 जगहों पर 185 लाइसेंस धारी स्टॉल और फूड आउटलेट हैं। इसमें सेगमत, बंदर पुतरा IOI, सेगमत बारू, जालान सेगमत मौर, तमन यायासन, बुलोह कसप, जेमेनताह, बाटु अनम और बंदर उटमा शामिल हैं।’

अधिकारी के मुताबिक वहां मौजूद लॉ एनफोर्समेंट ऑफिसर छिपकर ऐसे लोगों पर नजर रखेंगे जो रोजे के दौरान भोजन करते हुए नजर आएंगे। उनकी इस गतिविधि पर तुरंत सेगमेट की इस्लामिक धार्मिक परिषद से संपर्क किया जाएगा। मोहम्मद मंसी वकीमन ने बताया, ‘एक बार ऑर्डर मिलने के बाद, अधिकारी गुप्त रूप से भोजन का स्वाद ले रहे व्यक्तियों या समूह पर कब्जा कर लेंगे और इस्लामिक परिषद से संपर्क किया जाएगा।’

अधिकारी के मुताबिक रोजे के वक्त अगर कोई मुस्लिम भोजन करते हुए पकड़ा गया तो उसे छह महीने की जेल हो सकती है या जुर्माना देना पड़ सकता है। हालांकि सरकार के इस फैसले का चौतरफा विरोध हो रहा है। मलेशिया के मुस्लिम महिला अधिकार संगठन ‘सिस्टर्स इन इस्लाम’ ने सरकार के इस कदम को शर्मनाक करार दिया है। संगठन ने कहा, ‘हम सख्ती से मांग करते हैं कि सभी पार्टियां जासूसी के इस शर्मनाक काम को रोकें।

क्या आपको ये रिपोर्ट पसंद आई? हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं. हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें. आप हमें bhim app 930588808@ybl और paytm व phone pe कर सकते है इस न पर 9305888808

www.worldmediatimes.com पर जाकर सबक्राईब  करे हमसे जुड़ेने व विज्ञापन के लिए संपर्क करे अन्य न्यूज़ अपडेट हासिल करने के लिए आप हमें इस न9452888808 पर कॉल और whatsapp भी कर सकते है आप  youtube  पर भी सबक्राईब करे   Facebook Page और  Twitter    Instagram  पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें अपने मोबाइल पर  World Media Times की Android App