Navratri 2019: माता को पसंद हैं ये 9 भोग, जानें किस दिन क्या भोग लगाएं

0
77

नवरात्र हिंदू धर्म का एक खास और महत्वपूर्ण पर्व माना जाता है। चैत्र नवरात्र इस वर्ष 6 अप्रैल दिन शनिवार से शुरू होगी और 14 अप्रैल दिन रविवार तक पूरे 9 दिनों की रहेगी। चैत्र नवरात्र पर इस बार कई शुभ योग भी बन रहे हैं। इस बार चैत्र नवरात्र में पांच सर्वार्थ सिद्धि, दो रवि योग का विशेष संयोग बन रहा है। इस शुभ योग में मां भवानी की पूजा करने पर विशेष फल की प्राप्ति होती है। वैसे तो माता को सच्चे मन से जो भी भोग लगाओ, वह ग्रहण कर लेती है लेकिन माता दुर्गा को नवरात्र को यह 9 भोग पसंद हैं। मान्यता है कि जगत जननी को इनका भोग लगाने से मनोकामना की पूर्ति होती है। साथ ही बुद्धि व धन-संपदा की भी वृद्धि होती है। आइए जानते हैं किस दिन माता को कौन सा भोग लगाएं…

नवरात्र के पहले दिन मां के प्रथम स्वरूप शैलपुत्री की पूजा होती है। इस दिन मां को गाय के घी भोग लगाने चाहिए। इससे आरोग्य लाभ की प्राप्ति होती है।

नवरात्रि के 9 दिन पहनें ये 9 रंग के कपड़े, मिलेगा शुभ फल:-हिंदू धर्म में नया साल चैत्र नवरात्र से शुरू होता है. इस साल चैत्र नवरात्र 6 अप्रैल से शुरू होकर 14 अप्रैल तक रहेंगे. चैत्र नवरात्र में मां के नौ अलग-अलग रूपों की उपासना होती है. ऐसे में नवरात्रि में हर एक दिन एक खास रंग के कपड़े पहनकर माता की उपासना करने से शुभ फल मिलता है. आइए जानते हैं  नवरात्र‌ि में किस दिन कौन से रंग के कपड़े पहनने से मां खुश होती हैं.

पीला रंग 
नवरात्रि के पहले दिन पर्वतराज हिमालय की पुत्री माता शैलपुत्री का पूजन किया जाता है. इस दिन माता के भक्तों को माता शैलपुत्री को भूरे रंग की साड़ी पहनाकर श्रृंगार करना चाहिए. बात अगर माता के भक्तों की करें तो उन्हें इस दिन पीले रंग के कपड़े पहनकर पूजा करनी चाहिए.
हरा रंगनवरात्रि के दूसरे दिन देवी ब्रह्मचारिणी की उपासना की जाती है. इस दिन भक्तों को माता का नारंगी रंग से श्रृंगार करना चाहिए. जबकि खुद माता की उपासना करते समय भक्तों को हरे रंग के कपड़े पहनने चाहिए.
भूरा रंग नवरात्रि के तीसरे दिन मां दुर्गा के तीसरे रूप चंद्रघंटा का पूजन होता है. इस दिन माता को सफेद रंग के कपड़े पहनाने चाहिए. जबकि खुद भक्तों को भूरे रंग के कपड़े पहनने चाहिए.
नारंगी रंगनवरात्रि के चौथे दिन माता कुष्मांडा की अराधना की जाती है. भक्तों इस दिन माता कुष्मांडा का श्रृंगार उन्हें लाल रंग के वस्त्र पहनाकर करते हैं. वहीं भक्तों को खुद नारंगी रंग के कपड़े पहनकर माता का आशीर्वाद लेना चाहिए.
सफेद रंगनवरात्रि के पांचवें दिन माता स्कंदमाता की पूजा-अर्चना की जाती है.इस दिन देवी मां को नीले रंग के वस्त्र पहनाए जाते हैं. जबकि भक्तों के लिए इस दिन सफेद रंग के कपड़े पहनना शुभ होता है
लाल रंग दुर्गा मां का छठा रूप माता कात्यायनी है. भक्तों को इस दिन माता कात्यायनी का पीले रंग से श्रृंगार कराना चाहिए.इस दिन भक्तों के लिए लाल रंग का अधिक महत्व होता है. भक्तों को इस दिन लाल रंग के कपड़े पहनने चाहिए.
नीले रंगनवरात्रि के सातवें दिन माता कालरात्रि की पूजा की जाती है. भक्तों को सप्तमी के दिन नीले रंग के कपड़े पहनना चाहिए
गुलाबी रंगअष्‍टमी को महागौरी की पूजा की जाती है.माता महागौरी का श्रृंगार मोरपंखी रंग से किया जाना चाहिए. इस दिन भक्तों के लिए गुलाबी रंग के कपड़े पहनना शुभ माना जाता है
जामुनी रंगनवरात्रि के नौवें दिन मां सिद्ध‍िदात्री अपने भक्तों को सिद्ध‍ि का आशीर्वाद देती हैं. भक्तों के लिए इस दिन जामुनी रंग के कपड़े पहनना शुभ माना जाता है

www.worldmediatimes.com पर जाकर सबक्राईब  करे हमसे जुड़ेने व विज्ञापन के लिए संपर्क करे अन्य न्यूज़ अपडेट हासिल करने के लिए आप हमें इस न 9452888808 पर कॉल और whatsapp भी कर सकते है आप  youtube  पर भी सबक्राईब करे   Facebook Page और  Twitter   Instagram  पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें अपने मोबाइल पर  World Media Times की Android App