ईडी ऑफिस पहुंचे रॉबर्ट वाड्रा, तीसरे दौर की पूछताछ जारी

0
114

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई रॉबर्ट वाड्रा मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ के लिए शनिवार को फिर ईडी दफ्तर पहुंच चुके हैं. वाड्रा पर आरोप है कि उन्होंने विदेश में अवैध रूप से संपत्ति खरीदने के लिए मनी लॉन्ड्रिंग की.

सूत्रों के अनुसार रॉबर्ट वाड्रा शनिवार सुबह लगभग दस बजकर पैंतालीस मिनट पर दिल्ली के ईडी दफ्तर पहुंचे थे. बताया जा रहा है कि वाड्रा से भारत में उनकी संपत्तियों के बारे में सवाल पूछे जा रहे हैं.
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) इससे पहले बुधवार और गुरुवार को वाड्रा से कुल मिलाकर करीब 14 घंटे पूछताछ कर चुका है, लेकिन उन्हें संतोषजनक जवाब नहीं मिले. इससे पहले ईडी ने बुधवार और गुरुवार को लगातार दो दिनों तक वाड्रा से पूछताछ की थी. मध्य दिल्ली के जामनगर हाउस स्थित ईडी ऑफिस में पहले दिन वाड्रा से करीब साढ़े पांच घंटे और दूसरे दिन गुरुवार को 9 घंटे तक पूछताछ हुई. इस दौरान उनकी पत्नी और कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी उनके साथ खड़ी दिखीं और उन्हें ले जाने के लिए अपनी कार से ईडी ऑफिस पहुंचीं.

न्यूज़ 18 की खबर अनुसार वाड्रा को गुरुवार को जांच में फिर से इसलिए शामिल होना पड़ा, क्योंकि उनसे ब्रिटेन में कथित रूप से अचल संपत्तियां खरीदने के संबंध में और सवाल पूछे जाने थे. माना जाता है कि इस दौरान वाड्रा के ‘सामने’ वे दस्तावेज रखे गए, जो एजेंसी ने मामले की जांच के दौरान हासिल या जब्त किए हैं. इसमें फरार रक्षा डीलर संजय भंडारी से जुड़े दस्तावेज भी शामिल हैं.
आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि रॉबर्ट वाड्रा ने इस मामले के जांच अधिकारी के साथ दस्तावेज साझा किए और कहा कि जब उन्हें और दस्तावेज प्राप्त होंगे तो उन्हें भी साझा किया जाएगा. वहीं वाड्रा की ओर से मौजूद वकील ने बुधवार की रात कहा कि वाड्रा ने उनसे पूछे गए हर सवाल का जवाब दिया.

यह मामला लंदन में 12 ब्रायनस्टन स्क्वायर पर 19 लाख पाउंड (ब्रिटिश पाउंड) की संपत्ति की खरीद में कथित रूप से मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप से जुड़ा है. यह संपत्ति कथित तौर पर रॉबर्ट वाड्रा की है. इस जांच एजेंसी ने अदालत से यह भी कहा था कि उसे लंदन की कई नई संपत्तियों के बारे में सूचना मिली है जो वाड्रा की हैं. उनमें पचास और चालीस लाख ब्रिटिश पाउंड के दो घर तथा छह अन्य फ्लैट एवं अन्य संपत्तियां हैं.

हालांकि वाड्रा ने अवैध विदेशी संपत्ति से जुड़े आरोपों से इनकार किया है और आरोप लगाया कि राजनीतिक हित साधने के लिये उन्हें ‘परेशान’ किया जा रहा है. वाड्रा के वकील के टी एस तुलसी ने बृहस्पतिवार को ईडी कार्यालयके बाहर संवाददाताओं से कहा कि उनके मुवक्किल ने कोई गड़बड़ी नहीं की है.

www.worldmediatimes.com पर जाकर सबक्राईब  करे हमसे जुड़ेने व विज्ञापन के लिए संपर्क करे अन्य न्यूज़ अपडेट हासिल करने के लिए आप हमें इस न 9452888808 पर कॉल और whatsapp भी कर सकते है आप  youtube  पर भी सबक्राईब करे   Facebook Page और  Twitter   Instagram  पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें अपने मोबाइल पर  World Media Times की Android App