मप्र में SP,BSP और CONG के बीच क्यों नहीं हो पाया गठबंधन?अखिलेश यादव ने कही ये बात

0
302

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में आखिर सपा, बसपा और कांग्रेस के बीच गठबंधन क्यों नहीं हो पाया, इसका जवाब खुद अखिलेश यादव ने दिया है. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इसके लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा कि तीनों दलों के प्रस्तावित गठबंधन में कांग्रेस बसपा को शामिल करने के लिए तैयार नहीं थी. जिसकी वजह से गठबंधन की योजना खटाई में पड़ गई. सपा के मुखिया अखिलेश यादव ने कहा कि, ‘हमने कांग्रेस से कहा था कि मध्यप्रदेश में लड़ाई बड़ी है और इस लड़ाई में जीत हासिल करने के लिए बसपा को भी साथ लीजिए, लेकिन कांग्रेस सपा से तो गठबंधन करने को तैयार थी, लेकिन बसपा के साथ वो कोई समझौता नहीं करना चाहती थी’.

अखिलेश यादव ने कहा, कांग्रेस के अड़ने की वजह से ही मध्यप्रदेश में गठबंधन नहीं हो पाया. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यह दावा भी किया कि अगर कांग्रेस का मध्य प्रदेश में सपा, बसपा एवं गोंडवाना गणतंत्र पार्टी (जीजीपी) के साथ गठबंधन होता तो इसे कुल 230 सीटों में से 200 से ज्यादा सीटें मिलती. अखिलेश यादव ने कांग्रेस पर निशाना भी साधा और 2014 के बाद तमाम राज्यों में भाजपा सरकार आने के पीछे कांग्रेस की नीतियों को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा, ‘गठबंधन न करके कांग्रेस ने हमें आलोचना का अवसर दे दिया है. अब हम उनकी (कांग्रेस) नाकामियां बताएंगे’.

अयोध्या में राममंदिर निर्माण के बारे में पूछे गये सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि यह मामला वर्तमान में उच्चतम न्यायालय में विचाराधीन है. इसलिए मैं इस पर टिप्पणी नहीं करूंगा. अखिलेश यादव ने कहा, ‘‘जब भी हम भाजपा को नोटबंदी, जीएसटी एवं वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा युवाओं के लिए किये गये दो करोड़ रोजगार देने के वादे के बारे में घेरते हैं, तो वे (भाजपा के नेता) जाति, राममंदिर एवं अन्य मुद्दों को उठाकर अपने को बचाने के लिए उनका आश्रय लेने लगते हैं’.  (इनपुट- भाषा से भी)

www.worldmediatimes.com पर जाकर सबक्राईब  करे हमसे जुड़ेने व विज्ञापन के लिए संपर्क करे अन्य न्यूज़ अपडेट हासिल करने के लिए आप हमें इस न 9452888808 पर कॉल और whatsapp भी कर सकते है आप  youtube  पर भी सबक्राईब करे   Facebook Page और  Twitter    Instagram  पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें अपने मोबाइल पर  World Media Times की Android App