वाहे रे कुर्सी का प्रेम,काम करे कोई और नाम भरे कोई और

0
1256

संगम नगरी इलाहाबाद के सुनील चौधरी एक समाज समाज सेवी व इलाहाबाद हाईकोर्ट में अधिवक्ता भी है इन्होनें जनहित में कई सरहानीय कार्य किए है इलाहाबाद में रेड लाइट एरिया बंद करा महिलाओ का पुनर्वास भी कराया था

हम वर्ल्ड मीडिया टाइम्स पर सुनाते है सारी कहानी सुनील चौधरी की जुबानी केंद्र सरकार के स्वच्छ भारत अभियान ( 15 सितंबर से 2 अक्टूबर)को जमीन पर लाने का एक प्रयास ….जो सरकार को पहले ही करना चाहिए था लेकिन उसने कभी नही सोचा……
मै स्वच्छ भारत अभियान से पहले ही स्वछता के लिए एक बहुत बड़ी लड़ाई लड़ी और रेड लाइट एरिये की महिलाओ का पुनर्वास कराने में सफल भी हुआ,सरकारें दावा तो बहुत करती है लेकिन मूलभूत सुविधा सोचालय(महिला टॉयलेट)बनाने के नाम पर वोट की राजनीति खराब न हों इसके लिए 2014 में मेयर श्रीमती अभिलाषा गुप्ता नंदी ने पल्ला झाड़ कर कह दिया था कि घंटाघर पर आप की मांग महिलाओ के लिए टॉयलेट बनना मैं नही बनवा सकती क्योंकि वहां के कुछ व्यापारियो का विरोध है और वहा बनाए जाने पर बदबू आएगी ,और बड़े शो रूम वाले व्यापारी नाराज हो जाएंगे, इसी बात पर बहस होने मेरे दुवारा यानि चौधरी के द्वारा विरोध कर मेयर का घंटाघर पर पुतला फुका गया।विरोध करने पर पुलिस ने मुझको जेल भी भेज दिया ।

बड़े लंबे संघर्ष के बाद सुलभ इंटरनेशनल संस्था,दिल्ली के निदेशक श्री.पाठक ने 25 लाख रुपये दिए और सुलभ सोचालय का निर्माण घण्टाघर,शाहगंज तिराहा और कोतवाली के बगल में निर्माण हुआ। इतना होने के बावजूद इलाहाबाद की मेयर ने महिला सोचालय का उद्घाटन किया। उद्घाटन के पश्चात वही हुआ जो वहां के व्यापारियों को डर था बदबू आने लगी पेशाब बह कर रास्ते पर आने लगा फिर क्या था व्यापारी दिल से गाली देने लगे लेकिन मेयर साहिबा को कोई फर्क नहीं पड़ा उन्होंने उद्घाटन कर अपना फ़ोटो खिंचवा कर आगे बढ़ गई आप को बता दे कि नेता उद्घाटन करने के बाद पलट कर कभी नही देखता और हुआ भी ऐसा

कुछ महीने के पश्चात जब स्थानीय व्यपारियो व लोगों तकलीफों को देखा नहीं गया तो फिर सुलभ शौचालय में कर्मचारी की नियुक्ति करने हेतु अभियान चलाकर नगर आयुक्त को नोटिस दिए जाने के एक महीने पश्चात ही कर्मचारी की नियुक्ति हो गई और आज वह सोचालय भली-भांति लोगों को सेवा दे रहा है स्थानीय व्यपारी भी शौचालय कि अब सेवा ले रहे है ।इतना ही नहीं शौचालय कर्मचारी के द्वारा टॉयलेट करवाने के नाम पर र 2 शुल्क लेने पर इसकी शिकायत कर दिया । नगर निगम ने बताया कि शौचालय में टॉयलेट करने का कोई भी पैसा नहीं लिया जाता है ।और आज लोग निःशुल्क टॉयलेट की सेवा ले रहे है ।

आप सभी को बता दे कि हाल ही में हिंदुस्तान अखबार ने खुलासा किया था कि घण्टाघर पर बने सोचालय का श्रेय लेने का प्रयास मेयर व स्थानीय पारसद ने किया जो एक समाजसेवी के संघर्ष के अथक प्रयासों से बनवाया गया था (यानि में)।इस पर उस दिन सहर में बड़ी चर्चा हुई और लोगो ने मेयर और स्थानीय पारसद की निंदा की।

इसी क्रम में एक बहुत बड़ा मुद्दा इलाहाबाद के रोशन बाग क्षेत्र में महिलाओं के शौचालय को लेकर मैंने ने उठाया रोशन बाग क्षेत्र में त्योहारों पर प्रतिदिन लगभग 20000 महिलाओं का आना जाना होता है आपको बता दें रोशन बाग मुख्यता महिलाओं की मार्केट के लिए जाना जाता है अचानक भीड़ बढ़ जाने से आए दिन महिलाओं को शौचालय/ टॉयलेट की बहुत बड़ी समस्या का सामना करना पड़ता है इसी को देखते हुए समाजसेवी सुनील चौधरी ने अभियान चलाया और माननीय उच्च न्यालय इलाहाबाद से रोशन बाग में संसप्लाज़ा के सामने पार्क से सटाकर सुलभ शौचालय बनाए जाने हेतु आदेश पारित करा दिया जिसके लिए नगर निगम से 7 लाख रुपए भी आवंटित हो चुका है लेकिन इलाहाबाद के मेयर श्रीमती अभिलाषा गुप्ता नंदी साहिबा की अनदेखी होने से कार्य आगे नहीं बढ़ पा रहा है।

अगले अभियान में माननीय उच्चन्यायालय इलहाबाद के सामने और हाइकोर्ट इलाहाबाद बैंक के पीछे फोटो एफिडेविट कराने वाली जगह पर भी सुलभ शौचालय बनाये जाने हेतु प्रमुख सचिव को नोटिस भेज कर अवगत कराकर सोचालय का निर्माड कराया।

लगभग 4 साल पूर्व करेली के गंगागंज में बंद पड़े सुलभ शौचालय को खुलवा कर उसको रिपेयर करवा करके उस पानी की सुविधा चालू करा कर सोचालय को खोलवाये जाने का काम चौधरी के द्वारा किया गया ।अब स्थानीय लोग व बाहर से परीक्षा देने आए छात्र उस का सदुपयोग कर रहे है।

बहादुरगंज बताशा मंडी के पास कूड़ा फेंके जाने वाली जगह पर भी पूर्व में नगर आयुक्त को ज्ञापन देकर बनाएं जाने के लिए अथक प्रयास कर बनवाया ।वहां पर भी व्यपारियो का विरोध था।

चौक मार्केट में नेहरु काम्प्लेक्स के संदर्भ शौचालय को बेचे जाने का खुलासा मेरे  द्वारा किया गया मैंने  नगर आयुक्त से कहा गया कि आप तत्काल नेहरू काम्प्लेक्स का सोचालय खुलवा दे अन्यथा माननीय उच्चन्यायालय में याचिका दाखिल कर आप को दंडित कराने की मांग करूँगा।

2014 में घण्टाघर पर महिला सोचालय के आंदोलन पर hindudstan times अखबार ने 2 अक्टूबर 2015 को स्वछ भारत अभियान के सर्वे कराये जाने पर पूरे देश के टॉप 6 में श्री चौधरी का नाम भी राष्ट्रीय स्तर पर प्रकाशित किया था।
जय हिंद आपका सुनील चौधरी आप सबकी लड़ाई सदेव लड़ता रहुगा

आप अपनी प्रतिकिर्या इनकी मेल पर भी दे सकते है:Email- sunilchoudharylw@gmail.com

www.worldmediatimes.com  से जुड़ेने व विज्ञापन के लिए संपर्क करे अन्य न्यूज़ अपडेट हासिल करने के लिए आप हमें इस न 9452888808 पर whatsapp कर सकते है आप  youtube  पर भी सबक्रईब करे   Facebook Page और  Twitter   Instagram  पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें अपने मोबाइल पर  World Media Times की Android App