निकाय चुनाव:पहले चरण में 24 जिलों में वोटिंग आज,5 नगर निगम समेत 230 निकायों में होगा मतदान

0
439

लखनऊ: निकाय चुनावों पहले चरण के लिए आज मतदान किया जाएगा। 24 जिलों की 5 नगर निगम, 71 नगर पालिका परिषद व 154 नगर पंचायतों के लिए वोट डाले जाएंगे।इन जिलों में होगी वोटिंग
शामली, मेरठ, हापुड़, बिजनौर, बदायूं, हाथरस, कासगंज, आगरा, कानपुर नगर, जालौन, हमीरपुर, चित्रकूट, कौशाम्बी, प्रतापगढ़, उन्नाव, हरदोई, अमेठी, फैजाबाद, गोंडा, बस्ती, गोरखपुर, आजमगढ़, गाजीपुर और सोनभद्र जिले शामिल हैं।
प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव के पहले चरण में पांच नगर निगम मेरठ, आगरा, कानपुर नगर, फैजाबाद और गोरखपुर हैं। इनके अलावा 71 नगर पालिका परिषद और 154 नगर पंचायतें हैं। इस तरह से पहले चरण में कुल 230 निकायों के 4095 वार्डों में मतदान होगा।

मेयर पद के लिए 56 प्रत्याशी मैदान में
पहले चरण में 5 नगर निगम के मेयर पद के लिए कुल 56 प्रत्याशी मैदान में हैं। इनमें 33 पुरूष और 23 महिलाएं हैं। इनके अलावा पार्षद पद के लिए 3856 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। इनमें 2426 पुरूष और 1430 महिलाएं हैं।

24 जिलों में 3731 पोलिंग सेंटर पर होगा मतदान
निकाय चुनाव में पहले चरण के मतदान में 24 जिलों में कुल 3731 मतदान केन्द्र और 11683 मतदेय स्थल बनाए गए हैं। जहां कुल 1,09,26,972 मतदाता हैं जिनमें 58,43,850 पुरूष और 50,83,122 महिलाएं हैं। पार्षद पद के लिए 3856 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। इनमें 2426 पुरुष व 1430 महिलाएं हैं।

नगरपालिका परिषद में ऐसी है स्थिति
71 नगर पालिका परिषद के चेयरमैन पद के लिए कुल 901 प्रत्याशी मैदान में हैं। इसमें 534 पुरूष और 367 महिलाएं हैं। नगर पालिका परिषद के सदस्य पद के लिए कुल 10642 प्रत्याशी मैदान में हैं। इनमें से 6430 पुरूष और 4212 महिलाएं हैं।

नगर पंचायतों में ऐसी है स्थिति
154 नगर पंचायतों के चेयरमैन पद के लिए कुल 1678 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। इसमें 984 पुरूष और 684 महिलाएं हैं। इनके अलावा नगर पंचायतों के मेंबर के लिए 9181 उम्मीदवार खड़े हैं, जिनमें 5590 पुरूष और 3591 महिलाएं हैं।

गोरखपुर व अयोध्या में दांव पर होगी बीजेपी की प्रतिष्ठा
निकाय चुनाव के पहले फेज में गोरखपुर में मतदान होना है। गोरखपुर सीएम योगी का संसदीय क्षेत्र भी रह चुका है। जिसके बाद यहां की सीट जीतना बीजेपी के लिए साख की बात बन गई है। गोरखपुर से बीजेपी ने सीताराम जायसवाल को अपना प्रत्याशी बनाया है, वहीं बसपा से हरेंद्र यादव मैदान में हैं। कांग्रेंस ने राकेश यादव व सपा ने राहुल गुप्ता को अपना प्रत्याशी बनाया है। जबकि श्रवण कुमार जायसवाल आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी हैं।

पहली बार नगर-निगम बनी है राम नगरी 
अयोध्या- फैजाबाद लगभग सभी दलों के लिए महत्वपूर्ण चुनावी मुद्दा रहता है। अयोध्या पहली बार नगर निगम बनाया गया है। यूपी में लम्बे समय से राम मंदिर की के नाम पर सियासत गर्म रहती है। ऐसे में नगर निगम की यह सीट भी काफी अहम है। यहां से मेयर पद के लिए बीजेपी ने ऋषिकेश उपाध्याय को मैदान में उतारा है। सपा से गुलशन बिन्दू, बसपा ने गिरीश चन्द्र जबकि आम आदमी पार्टी से सर्वेश कुमार वर्मा प्रत्याशी हैं और कांग्रेस से शैलेन्द्र मणि चुनाव मैदान में हैं।

कानपुर
कानपुर से एक ओर जहां बीजेपी सांसद डा.मुरली मनोहर जोशी सांसद हैं, वहीं योगी सरकार के मंत्री सतीश महाना की भी साख दांव पर है। दूसरी ओर कांग्रेस के पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल भी कानपुर में अपना एक अलग रसूख रखते हैं। कानपुर नगर निगम से बीजेपी ने प्रमिला पाण्डेय को अपना प्रत्याशी बनाया है, तो कांग्रेस ने बंदना मिश्रा को चुनावी मैदान में उतारा है। सपा ने यहां से माया गुप्ता को अपना प्रत्याशी बनाया है। जबकि बीएसपी ने अर्चना निषाद को मैदान में उतारा है।

मेरठ
नगर निगम के लिए बीजेपी ने कांता कर्दम को अपना प्रत्याशी बनाया है, जबकि बीएसपी ने सुनीता वर्मा को चुनाव मैदान में उतारा है, कांग्रेस ने ममता सूद को तो सपा ने दीपू मनोथिया को उम्मीदवार बनाया है। मेरठ नगर नीगम की बात करें तो वहां योगी सरकार के मंत्री सुरेश राणा, एवं विधायक संगीत सोम का काफी प्रभाव रहता है। ऐसे में यह सीट भी बीजेपी के लिए काफी अहम मानी जा रही है।

प्रेम नगरी 
नगर निगम के लिए बीजेपी ने नवीन कुमार जैन, बीएसपी ने दिगंबर सिंह, सपा ने राहुल चतुर्वेदी, कांग्रेस ने विनोद बंसल को प्रत्याशी बनाया है। आगरा नगर निगम के लिए जहां बीजेपी विधायक रानी पक्षलिका सिंह ने चुनाव प्रचार में खूब ताकत झोंकी है वहीं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर की प्रतिष्ठा भी यहां दांव पर लगी है।

निकाय चुनाव में पहली बार
निकाय चुनाव में पहली बार ड्रोन कैमरे का इस्तेमाल किया जाएगा। इससे पहले विधानसभा व लोकसभा चुनाव में ड्रोन कैमरे का प्रयोग किया जा चुका है। इसके आलावा वेब कास्टिंग का प्रयोग भी निकाय चुनाव में पहली बार किया जा रहा है।
इसके आलावा सभी प्रमुख राजनैतिक पार्टियां सिम्बल पर अपने प्रत्याशियों को चुनाव लड़ा रही हैं। हांलाकि बीजेपी पहले से ही ऐसा करती आ रही है।

सुरक्षा की होगी चाक-चौबंद व्यवस्था
पहले फेज में निष्पक्ष चुनाव कराने के 40 कंपनी अर्धसैनिक बलों की तैनाती है। इसके आलावा 76 कंपनी पीएसी भी चुनाव में तैनात हैं। वहीं 40 हजार होमगार्ड्स के भी जवानों की तैनाती पहले फेज के चुनाव के लिए 24 जिलों में की गई है। इनके साथ जिलों की भी पुलिस इनके साथ तैनात हैं।

www.worldmediatimes.com से जुड़ेने व विज्ञापन के लिए संपर्क करे अन्य न्यूज़ अपडेट हासिल करने के लिए आप हमें इस न 9452888808 पर whatsapp कर सकते है आप  youtube पर भी सबक्रईब करे Facebook और Twitter पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें अपने मोबाइल पर World Media Times की Android App