प्रोटेस्‍ट के दौरान पुलिस-बीजेपी कार्यकर्ताओ की झड़प,मायावती के घर के बाहर पुलिस बल तैनात

0
169
लखनऊ:मायावती-दयाशंकर सिंह का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। शनिवार को सभी जिला मुख्‍यालयों पर ‘बेटी के सम्मान में, बीजेपी मैदान में’ नारे के साथ प्रोटेस्‍ट कर रहे बीजेपी वर्कर्स की हजरतगंज में पुलिस से झड़प हो गई। यहां कार्यकर्ताओ को पुलिस ने रोक लिया। उधर, प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन ने मायावती के घर और पार्टी ऑफिस की सुरक्षा बढ़ा दी है। यहां कई थानों की पुलिस मौजूद है।
bjp3
क्‍या कहना है बीजेपी का?
नीरज बोरा ने कहा कि दयाशंकर सिंह के परिवार को जिस तरह निशाना बनाया गया, उससे महिला सम्मान को ठेस पहुंची है। हम इसकी निंदा करते हैं।अगर मायावती दोषी नेताओं को बर्खास्त कर मुकदमा दर्ज करातीं तो महिला होने का फर्ज अदा कर पातीं।
हम प्रदर्शन के जरिए नसीमुद्दीन को विधानपरिषद के नेता के तौर पर बर्खास्त करने की मांग के साथ सभी की गिरफ्तारी की मांग करते हैं।
बेटी के सम्मान में बीजेपी चुप नहीं बैठेगी।इस दौरान बीजेपी वर्कर्स ने सिटी मजिस्ट्रेट विनोद कुमार को ज्ञापन सौंपा।
 bjp9
बीजेपी यूपी चीफ ने क्‍या कहा?
बीजेपी यूपी चीफ केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि जिस तरह से बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा के नीचे बहन, बेटी के लि‍ए अपशब्‍दों का प्रयोग कि‍या गया, वह बेहद निंदनीय है।अगर बसपा कार्यकर्ताओं के नारों को सुनकर मायावती ने खुद नसीमुद्दीन सिद्दीकी समेत तमाम नेताओं और कार्यकर्ताओं पर एफआईआर दर्ज कराई होती, उन्‍हें पार्टी से निकालतीं तो अच्‍छा होता।अगर मायावती के मन में जरा भी स्‍त्री की गरिमा के प्रति सम्मान हो तो नसीमुद्दीन को नेता विधान परिषद के पद से बर्खास्त और पार्टी के महासचिव पद से निष्कासित करें।
नसीमुद्दीन की गिरफ्तारी एफआईआर के मुताबि‍क नहीं होगी तो बीजेपी धरना प्रदर्शन के साथ ही गवर्नर से मिलकर ज्ञापन सौंपेगी।
 bjp8
स्‍वाति सिंह हो सकती हैं बीजेपी की कैंडिडेट
पूरे मामले पर दयाशंकर सिंह की पत्‍नी स्‍वाति सिंह द्वारा प्रोटेस्‍ट किए जाने से बैकफुट पर आई बसपा और पूरे प्रदेश के स्‍व‍ाति से सहानुभूति को देखते हुए बीजेपी उन्‍हें अपना उम्‍मीदवार बना सकती है।हालांकि, अभी इसकी आधि‍कारि‍क पुष्‍टि नहीं हो सकी है, लेकि‍न महि‍ला सम्‍मान के नाम पर स्‍वाति सिंह चेहरा हो सकती हैं।
 bjp5
क्‍या था पूरा मामला?
दयाशंकर सिंह बीजेपी यूपी अध्यक्ष केशव मौर्या की कमेटी में उपाध्यक्ष थे। वह मऊ में एक कार्यक्रम में गए थे।
यहां उन्होंने कहा कि मायावती एक बड़ी लीडर हैं और तीन बार सीएम रह चुकी हैं।मायावती किसी को एक करोड़ रुपए में टिकट देती हैं।
अगर कोई एक घंटे बाद ही दो करोड़ देता है तो उसको टिकट दे देती हैं और शाम को अगर कोई तीन करोड़ देने वाला मिलता है तो उसे दे देती हैं।
bjp10आज उनका चरित्र (…) से भी बदतर है।इस बयान के बाद देश के कई राज्‍यों में बसपा कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन शुरू कर दिया और लखनऊ में बसपा नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी के सामने ही कार्यकर्ताओं ने बैनरों पर दयाशंकर के, उनकी बहन और बेटी के बारे में आपत्तिजनक बातें लिखीं।इसके बाद उनके परिवार ने भी बसपा पर जमकर निशाना साधा और बसपा व उसके नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई।दयाशंकर की मां तेतरादेवी ने शुक्रवार को बसपा के खिलाफ हजरतगंज थाने में तहरीर दी। तहरीर में उन्‍होंने बसपा नेताओं के खि‍लाफ मुकदमा दर्ज करने के साथ ही पुलि‍स से परि‍वार के जान माल के सुरक्षा की भी मांग की।
www.worldmediatimes.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए आप हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें अपने मोबाइल पर World Media Times की Android App