Home पश्चिम बंगाल कोलकाता बंगाल में कोरोना के 8419 नए मामले और 28 मौतें

बंगाल में कोरोना के 8419 नए मामले और 28 मौतें

292
0

कोलकाता। Coronavirus: बंगाल में विधानसभा चुनाव के बीच रविवार को कोरोना के 8419 नए मामले सामने आए, जिससे राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 6,59,927 हो गई। शनिवार को राज्य में 7,713 नए मामले आए। स्वास्थ्य विभाग ने एक बुलेटिन में यह जानकारी दी है। राज्य में कोरोना से पिछले 24 घंटे के दौरान 28 और मौतें होने के बाद मरने वालों की संख्या बढ़कर 10,568 हो गई है। एक दिन पहले भी 34 मौतें हुई थी। कोलकाता शहर में सबसे ज्यादा 2,197 नए मामले आए हैं और पांच मौतें हुईं हैं। पिछले 24 घंटे में राज्य में बीमारी से 4,053 मरीज ठीक हुए। बुलेटिन में कहा गया कि कोरोना वायरस संक्रमण का पता लगाने के लिए पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य में 46,074 नमूनों की जांच की गई है। इसके बाद अब तक राज्य में कुल जांच की संख्या 98,08,160 हो गई है।

सिलीगुड़ी में कोरोना के 149 नए मामले :-सिलीगुड़ी। सिलीगुड़ी व आसपास के क्षेत्रों में कोरोना वायरस के 149 नए मामले सामने आए हैं। इनमें सिलीगुड़ी नगर निगम क्षेत्र में एक आंकड़ा 84 है। जबकि माटीगाड़ा प्रखंड में 26, नक्सलबाड़ी प्रखंड में 28, फांसीदेवा प्रखंड में छह, खोरीबाड़ी प्रखंड में तीन तथा सिलीगुड़ी से सटे सुकना में कोरोना के दो मामले सामने आए हैं। इस तरह से सिर्फ सिलीगुड़ी नगर निगम क्षेत्र में 16 दिनो के अंदर कोरोना वायरस के लगभग 696 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, पिछले एक सप्ताह की बात करें तो सात दिनों में ही सिलीगुड़ी व आसपास के क्षेत्रों में छह सौ से ज्यादा मामले सामने आ चुके है।

जिला प्रशासन द्वारा मिली जानकारी के अनुसार, शुक्रवार को कुल तीन मरीजों ने कोरोना से जंग भी जीत ली है। उल्लेखनीय है कि इस सप्ताह मंगलवार को कोरोना के 111 नए मामलों के साथ इस वर्ष नया रिकार्ड कायम किया था। हालांकि यह रिकार्ड कायम नहीं रह सका, दूसरे दिन यानी बुधवार को 141 मामलों के साथ नया रिकार्ड कायम टूट गया। वहीं, गुरुवार को सिलीगुड़ी व आसपास के क्षेत्रों में कोरोना के 132 नए मामले सामने आए थे। जबकि शुक्रवार को 149 मामले सामने आए। इस तरह से जहां पहले कोरोना के मामले दोहरे अंक में आ रहे थे, वहीं पिछले चार दिनों से लगातार सौ से ज्यादा मामले आ रहे हैं। बीते मंगलवार को आए कोरोना के सर्वाधिक मामले पिछले पांच महीने के दौरान एक दिन में सबसे ज्यादा मामले हैं।